Saturday, June 19, 2010

ऑनर किलिंग के भय से प्रेमी-प्रेमिका ने जहर खाया

ऑनर किलिंग के भय से एक प्रेमी जोड़े ने बृहस्पतिवार 17 जून, 2010 को देर रात जहर खाकर जान देने का प्रयास किया। दोनों घर से भागकर ग्रेटर नोएडा में किराए के मकान में रह रहे थे। प्रेमी बीए द्वितीय वर्ष और प्रेमिका बीबीए की छात्रा है। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां अब हालत खतरे से बाहर है। जहर खाने से पहले उन्होंने सुसाइड नोट लिखा था कि परिजन पुलिस में मामला दर्ज न कराएं।

आत्महत्या का प्रयास करने वाली प्रेमिका मुरादनगर की रहने वाली है और प्रेमी मेरठ के परतापुर गांव का है। युवक के पिता पुलिस मे हैं। मुरादनगर में लड़की के पड़ोस में युवक की बुआ रहती है। युवक उन्हीं के घर रहकर बीए की पढ़ाई कर रहा है। एक साल पूर्व युवक-युवती की बातचीत शुरू हुई, जो जल्द ही प्यार में बदल गई। दोनों ने शादी करने का फैसला किया और छह माह पूर्व मंदिर में गुपचुप शादी कर ली। धीरे-धीरे उनकी प्रेम कहानी गांव में चर्चा का विषय बन गई। छात्रा के परिजन को पता चला तो उन्होंने उस पर बंदिश लगा दी। बावजूद प्रेमी-प्रेमिका चोरी-छिपे मिलते थे।

कुछ दिन पहले छात्रा के भाई ने उसकी पिटाई कर दी। छात्रा के पिता की मौत हो चुकी है। झूठी इज्जत बचाने के लिए छात्रा के चाचा व भाई ने आनन-फानन में उसकी शादी की तैयारी शुरू कर दी। ऐसे में प्रेमी जोड़े के पास घर से भागने के सिवा कोई रास्ता नहीं बचा। प्रेमी छात्र का चचेरा भाई ग्रेटर नोएडा में रहता है। दस दिन पहले वह ग्रेटर नोएडा आया और भाई की मदद से सेक्टर पाई की गुलमोहर सोसायटी में एक फ्लैट किराए पर ले लिया। इसके बाद बुधवार को प्रेमी जोड़ा घर से भाग ग्रेटर नोएडा रहने चला आया। उधर, प्रेमी-प्रेमिका के भागते ही दोनों के परिजन उनकी तलाश में जुट गए।

दोनों को तलाशते हुए परिजन ग्रेटर नोएडा पहुंचे। प्रेमी-प्रेमिका ने बृहस्पतिवार को ग्रेटर नोएडा के एक मंदिर में जाकर दोबारा शादी कर ली। शुक्रवार को वह कोर्ट में शादी करने वाले थे। बृहस्पतिवार रात छात्रा की अपने भाई से मोबाइल पर बातचीत हुई। दोनों की शादी का पता चलने पर छात्रा के भाई ने उसे और उसके प्रेमी को जान से मारने की धमकी दी। इस पर दोनों डर गए और आत्महत्या का फैसला कर लिया। इसके बाद रात में ही दोनों ने नींद की गोलियां खाई और फिर मच्छर मारने की दवा पी ली। जहर पीने से दोनों बेहोश हो गए। शुक्रवार सुबह छात्र का चचेरा भाई उनके कमरे पर पहुंचा तो दोनों बेहोश पड़े थे। उसने शोर मचाकर आसपास के लोगों को बुलाया और उनकी मदद से दोनों को ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया। सूचना मिलने पर प्रेमी प्रेमिका के परिजन व पुलिस भी अस्पताल पहुंच गए। डाक्टरों का कहना है कि प्रेमी जोड़े की हालत अब खतरे से बाहर है। पुलिस क्षेत्राधिकारी शैलेंद्र लाल ने बताया कि परिजनों ने पुलिस कार्रवाई से मना कर दिया है। पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच कर रही है। प्रेमी प्रेमिका के ठीक होने पर उनका बयान लिया जाएगा, उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की होगी। उन्होंने बताया कि आत्महत्या के प्रयास से पहले प्रेमी जोड़े ने सुसाइड नोट लिखा था। जिसमें उन्होंने आत्महत्या की वजह परिजनों का शादी के खिलाफ होना लिखा है।