Monday, June 21, 2010

दो और प्रेमी युगल चढ़े मौत की भेंट

हरियाणा में

ऑनर किलिंग के लिए कुख्यात हरियाणा में एक और प्रेमी जोड़े की जान ले ली गई। दोनों के शव लड़की के चाचा के घर में फंदों पर टंगे मिले। पुलिस के अनुसार मामला ऑनर किलिंग का है। पुलिस ने लड़की के मां, बाप सहित सात परिजनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस का अनुमान है कि दोनों की हत्या का कारण उनके संबंधों से परिजनों का नाराज होना है।

वारदात का पता पुलिस को 20 जून, 2010 रविवार शाम पौने तीन बजे चला। जान गंवाने वाली युवती मोनिका बोहरा (18) नीमड़ीवाली के दलवीर सिंह की बेटी थी। वह गांव के स्कूल में ही इंटर की छात्रा थी। युवक प्रदीप उर्फ रिंकू (19) मानहेरू गांव के जयभगवान का बेटा था और नीमड़ीवाली में अपने मामा सत्यप्रकाश के साथ दूध का काम करता था।

डीएसपी धीरज सिंह और सदर थाने के एसएचओ प्रेम सिंह बूरा ने बताया कि रिंकू के माथे से खून रिस रहा था। फर्श पर भी खून के निशान थे और वहां खून से सना हुआ डंडा भी मिला है। यह मकान मोनिका के चाचा कुलदीप सिंह का है। कुलदीप और उसके परिवार के लोग तथा मोनिका के बड़े भाई फरार हैं। मोनिका का पिता अपने घर पर मौजूद था, लेकिन उसने कुछ भी नहीं कहा। रिंकू के मामा सत्यप्रकाश की शिकायत पर पुलिस ने मोनिका के पिता, दो भाइयों, मां और चाचा चाची के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

मानहेरू से आए रिंकू के चाचा कृष्ण कुमार ने कहा कि हत्या करने के बाद उसके भतीजे को शहतीर पर लटकाया गया। कृष्ण कुमार ने बताया कि उन्हें पौने तीन बजे रिंकू के मामा सत्यप्रकाश ने फोन पर बताया कि रिंकू का झगड़ा हो गया है और उसे चोट लगी है। करीब तीस किमी दूर अपने गांव से वह यहां पहुंचा तो एक युवती के साथ रिंकू की रक्तरंजित लाश लटकी मिली। मामला हत्या का है। एफआईआर दर्ज कर ली गई है और अभियुक्तों की तलाश में पुलिस जुट गई है। भिवानी के चौ.बंसीलाल सामान्य अस्पताल में शवों को लाया गया जहां पोस्टमार्टम की कार्रवाई की औपचारिकताएं पूरी की गई।

दिल्ली में

देश की राजधानी प्यार करने वालों के लिए बिलकुल सुरक्षित नहीं रह गई है। दिल्ली में बीस दिन में दो ऑनर किलिंग का मामला सामने आने से पूरे देश में सनसनी फैल गई है। अशोक विहार के ब्लॉक नंबर आई में रहने वाले एक दंपती की रविवार देर रात हत्या कर दी गई। महिला की लाश फ्लैट नंबर 1/167 से मिली है। जबकि उसके पति की लाश बाहर खड़ी कार के पास से पुलिस ने बरामद की। मौके पर पहुंच कर पुलिस ने दोनों शवों को अपने कब्जे में ले लिया। दोनों गुड़गांव की एक कंपनी में काम करते थे।

गौरतलब है कि 2006 में राजपूत जाति के कुलदीप सिंह ने गूजर समुदाय की मोनिका से प्रेम विवाह किया था। दोनों ने परिवार वालों की मर्जी के खिलाफ शादी की थी। तभी से दोनों पक्षों में तनातनी चल रही थी। खासतौर पर लड़की पक्ष काफी गुस्से में था।

हालांकि कुछ दिनों पहले मोनिका की मां ने दोनों को सुलह के लिए घर बुलाया था। लेकिन, बात नहीं बनी थी। बताया जा रहा है कि रविवार देर रात कुलदीप को आवाज देकर घर से बाहर बुलाया गया और गोली मार दी गई। कुछ देर बात घर में घुसकर मोनिका पर भी भारी हथियार से वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया गया। लड़की के भाई अंकित पर पर हत्या का शक जताया जा रहा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।