Monday, March 9, 2009

"तेरे दिल की हर बात जानता हूं मैं"

पता नहीं हमारी किस्मत में क्या लिखा है। पर इतना जरूर है कि अब तुम्हारे बिना जीना मुश्किल है। जान मुझे पता है कि तुम भी मेरे बिना वहां खुश नहीं हो। काश! की ये दुनिया वाले हमारे इस प्यार को समझ पाते। लेकिन जान तुम परेशान मत होना। एक ना एक दिन तो इस दुनिया को भी हमारे प्यार के आगे अपना सिर झुकाना ही पड़ेगा। क्योंकि मेरी जिंदगी में तुम्हारे सिवा अब कोई और नहीं आ पायेगा। बस तुम भी मेरा साथ देना हमारे प्यार का साथ देना। और भगवान पर विश्वास रखना। मैंने सब कुछ 'सांई बाबा' पर छोड़ दिया है। अगर हमारा प्यार सच्चा है तो वे हमारी जरूर सूनेंगे और हमारा मिलन जरूर होगा।

जान तुम्हारी बहुत याद आती है। तुम से जुड़ी हर बात याद आती है। जब-जब तनहा बैठता हूं तो तुम्हारी याद बेशुमार आती है। जान होली आने वाली है। पर तुम्हारे बिना सारे रंग बेरंग लगते हैं। भगवान से यही दुआ करता हूं कि हमारी तपस्या का जल्द से जल्द हमें फल दें। जान ''हैप्पी होली'' तुम अपना ख्याल रखना। क्योंकि मुझे पता है कि तुम बिलकुल भी अपना ध्यान नहीं रखती होगी। आई लव यू 'जान'


तेरे दिल की हर बात जानता हूं मैं,
तेरे दिल की हर धड़कन को पहचानता हूं मैं,
जब से बसा है तेरा दिल मेरे दिल में,
तेरे आने की आहट भी पहचानता हूं मैं।

2 comments:

neeshoo said...

तेरे दिल की हर बात जानता हूं मैं,
तेरे दिल की हर धड़कन को पहचानता हूं मैं,
जब से बसा है तेरा दिल मेरे दिल में,
तेरे आने की आहट भी पहचानता हूं मैं।

बहुत बढ़िया । एक प्रेमी से ऐसी ही उम्मीद । मस्त लगी ये लाइनें।होली मुबारक

दिगम्बर नासवा said...

जब से बसा है तेरा दिल मेरे दिल में,
तेरे आने की आहट भी पहचानता हूं मैं।

बहुत khoob लिखा है
होली की बहुत बहुत मुबारक आपको और परिवार को